चंद्र ग्रहण के दौरान प्रेगनेंट महिलाएं भूलकर न करें ये काम, वर्ना बच्चे पर पड़ेगा सीधा असर

384 0

लखनऊ डेस्क। 16 जुलाई को इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण लगेगा इस दिन गुरु पूर्णिमा का भी योग बन रहा है। 16 जुलाई की रात चंद्र ग्रहण 1:32 बजे से आरंभ होगा। जिसका मोक्ष 17 जुलाई की सुबह 4:30 बजे होगा। ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए। जानें कौन –कौन सी –

ये भी पढ़ें :-सोने से पहले जरूर करें ये योगासन, आएगी मीठी नींद

1-ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को किसी भी नुकीली चीज का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जैसे चाकू, कैंची, सूई आदि। शास्त्रों में यह भी कहा जाता है कि न सिर्फ गर्भवती महिलाएं बल्कि उनके पति भी इस समय इन चीजों का इस्तेमाल करने से बचें। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से उसके शिशु के अंगों को हानि पहुंच सकती है।

2-ग्रहण खत्म होने के बाद गर्भवती महिला को जरूर नहा लेना चाहिए वर्ना उसके शिशु को त्वचा संबधी रोग लग सकते हैं। ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए गर्भवती महिला को तुलसी का पत्ता जीभ पर रखकर हनुमान चालीसा और दुर्गा स्तुति का पाठ करना चाहिए।

3-चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को बाहर नहीं निकलना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि गर्भवती महिला अगर ग्रहण देख लेती है तो उसका सीधा असर उसके होने वाले बच्चे की शारीरिक और मानसिक सेहत पर पड़ता है। जिसकी वजह से शिशु गंदे लाल चिन्हों के साथ पैदा होता है।

4-गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान बना हुआ खाना नहीं खाना चाहिए।कहा जाता है कि इस समय में पड़ने वाली हानिकारक किरणें खाने को दूषित कर देती हैं।ऐसे में अगर घर पर खाना बना हो तो उसमें तुरंत तुलसी के पत्ते डाल दें। ग्रहण खत्म होने के बाद उन्हें निकाल दें।

Related Post

LiveTV