गर्मियों में न हो ‘फूड पॉइजनिंग’ जैसी समस्या, तो अपनाएं ये तरीके

264 0

लखनऊ डेस्क। गर्मी आते ही फूड पॉयजनिंग की समस्या बढ़ जाती है। इन चीजों से बचने का एक ही उपाय है और वो है सावधानी बरतना। इस समस्या जिससे थकान और कमजोरी महसूस होने लगती है। उल्टी-दस्त, बुखार, पेट दर्द जैसी समस्याएं गर्मियों में फूड पॉयजनिंग के चलते बहुत ही आम हैं।

ये भी पढ़ें :-बदल लें ये बुरी आदतें, नही हो जाएंगे पथरी जैसी बीमारी के शिकार

1- अगर बार-बार उल्टी हो रही है, दस्त होते दो-तीन दिन हो चुके हैं, पेट दर्द और ऐंठन महसूस हो, बुखार,  डिहाइड्रेशन, मांसपेशियों में कमजोरी, धुंधला दिख रहा है, तो इनमें से कोई भी लक्षण दिखने पर डॉक्टर से तुरंत सलाह लें।

2- उल्टी और दस्त होने पर तरल चीजें जैसे नारियल पानी, दाल का पानी, नींबू पानी और जूस पिएं।

3- फूड पॉइजनिंग के इलाज में सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि इस दौरान उल्टी या दस्त के कारण शरीर से जितने तरल की हानि (फ्लूइड लॉस) हो, उसकी पूर्ति की जाए।

4-फूड पॉयजनिंग रोकने का सबसे आसान और अच्छा तरीका है कि आप अपने हाथों को अच्छी तरह से धोते रहें। इसके अलावा घर में सभी को बाहर से आने के बाद, खाने से पहले और खाने के बाद हाथ धोने की आदत डालें। किचन में कुछ भी खाना बनाने से पहले हाथ धो लें। इससे बैक्टीरिया काफी हद तक दूर रहेंगे।

Related Post

LiveTV